CTET CBSE

Apply Online & Exam Updates

Psychology मनोविज्ञान का अर्थ, परिभाषाएं CTET Study Material Paper 1 & 2

Psychology मनोविज्ञान का अर्थ, परिभाषाएं (CTET Study Material Paper 1 & 2)

मनोविज्ञान का अर्थ

‘‘मन के विज्ञान’’ को मनोविज्ञान कहा जाता है । भारतीय वाड्मय में उसकी प्रकृति पष्चिम के मनोविज्ञान के समान शैक्षणिक (Educational) नहीं होकर आध्यामित्क (Spiritual) हैं। अतः उसे ‘‘मन का ज्ञान’’ कहना अधिक सार्थक प्रतीत होता है।

प्राचीन भारत में मनोविज्ञान को आत्मा के विज्ञान और चेतना के विज्ञान के रूप में लिया जाता है। भारतीय मनीषी आध्यात्मिक साधना, जिसमें ध्यान, समाधि और योग भी सम्मिलित था, के द्वारा जो अनुभव एवं अनुभूतियां प्राप्त करते थे उनके आधार पर मनोवैज्ञानिक समस्याओं का समाधान भी तलाषा जाता था।

यूं तो पाष्चात्य मनोविज्ञान का उद्भव भी दर्षन से हुआ हैं। मनोवैज्ञानिक मन के अनुसार ‘‘मनोविज्ञान, व्यवहार और अनुभूति का एक निष्चित विज्ञान है जिसमें व्यवहार को अनुभूति के माध्यम से अभिव्यक्त किया जाता है’’।

मनोविज्ञान की विकास की लम्बी यात्रा के दौरान मनोवैज्ञानिकों एवं मनीषियों ने चिंतन मनन किया तथा मनोविज्ञान के स्वरूप को निर्धारित किया। अनेक मनोवैज्ञानिकों ने मनोविज्ञान को निम्नानुसार परिभाषित किया है।

मनोविज्ञान का शाब्दिक अर्थ

मनोविज्ञान शब्द का शाब्दिक अर्थ ‘मन का विज्ञान’ है। मनोविज्ञान शब्द का अंग्रेजी समानार्थक शब्द “Psychology” (साइकोलॉजी) है, जो की यूनानी (ग्रीक) भाषा के दो शब्दों “Psyche”(साइकी) और “Logos”(लोगस) के मिलने से बना है।

Psyche (साइकी) शब्द का अर्थ “आत्मा” और Logos (लोगस) शब्द का अर्थ होता है “अध्ययन”। अतः Psychology का शाब्दिक अर्थ है – “आत्मा का अध्ययन”।

मनोविज्ञान की परिभाषाए

1. वाटसन के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार
का निश्चित या शुद्ध विज्ञान है।”

2. वुडवर्थ के अनुसार, “ मनोविज्ञान, वातावरण
के सम्पर्क में होने वाले मानव व्यवहारों का विज्ञान
है।”

3. मैक्डूगल के अनुसार, “ मनोविज्ञान, आचरण
एवं व्यवहार का यथार्थ विज्ञान है।”

4. क्रो एण्ड क्रो के अनुसार, “ मनोविज्ञान
मानव – व्यवहार और मानव सम्बन्धों का अध्ययन
है।”

5. बोरिंग के अनुसार, “ मनोविज्ञान मानव
प्रकृति का अध्ययन है।”

6. स्किनर के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार
और अनुभव का विज्ञान है।”

7. मन के अनुसार, “आधुनिक मनोविज्ञान
का सम्बन्ध व्यवहार की वैज्ञानिक खोज से है।”

8. गैरिसन व अन्य के अनुसार, “ मनोविज्ञान
का सम्बन्ध प्रत्यक्ष मानव – व्यवहार से है।”

9. गार्डनर मर्फी के अनुसार, “ मनोविज्ञान वह
विज्ञान है, जो जीवित व्यक्तियों का उनके
वातावरण के प्रति अनुक्रियाओं का अध्ययन करता है।”

Psychology – CTET Topic

CTET Study Material Exam Notes

CTET Study Material Exam Notes 2

मनोविज्ञान का शिक्षा में योगदान

1. बालक का महत्व।
2. बालकों की विभिन्न अवस्थाओं का महत्व।
3. बालकों की रूचियों व मूल प्रवृत्तियों का महत्व।
4. बालकों की व्यक्तिगत विभिन्नताओं का महत्व।
5. पाठ्यक्रम में सुधार।
6. पाठ्यक्रम सहगामी क्रियाओं पर बल।
7. सीखने की प्रक्रिया में उन्नति।
8. मूल्यांकन की नई विधियां।
9. शिक्षा के उद्देश्य की प्राप्ति व सफलता।
10. नये ज्ञान का आधारपूर्ण ज्ञान।

CTET CBSE September Februaryविकास की अवधारणा और इसका अधिगम से संम्बंध

आशा करते हैं, आपको दी हुई सुचना पसंद आयी होगी, इसके साथ आपकी सीटेट की तयारी का स्तर भी ऊँचा हुआ होगा…हम चाहते हैं के ये सुचना आप अपने दोस्तों को भी शेयर करें !….और फेसबुक के माध्यम से जुड़ने के लिए पेज लाइक करें !

Like Our Official Facebook Fan Page

Related Post

CTET 2017, CTET 2018, CTET 2019, CTET 2020, CTET 2021, CTET 2022
error: Sorry Baby !